गठबंधन

सहायक कंपनियां

गेल ने शहर गैस वितरण और पेट्रोकेमिकल हेतु सहायक तथा संयुक्‍त उद्यम कंपनियों का गठन किया है । सहायक कंपनियेां/संयुक्‍त उद्यम कंपनियेां के गठन द्वारा परिवहन क्षेत्र हेतु और घरों तथा व्‍यावसायिक उपभोक्‍ताओं हेतु शहर गैस परियोजनाओं को प्रारंभ करने में गेल एक अग्रणी कंपनी है ।

subsidiaries-1

ब्रह्मपुत्र क्रैकर एंड पॉलीमर लिमिटेड (बीसीपीएल)

ब्रह्मपुत्र क्रैकर एंड पॉलीमर लिमिटेड (बीसीपीएल) में गेल (इंडिया) लिमिटेड की 70% इक्विटी हिस्‍सेदारी है और यह ऑयल इंडिया लिमिटेड (ओआईएल), नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड (एनआरएल) और असम सरकार के 10% प्रत्‍येक के इक्विटी शेयर के साथ गेल की सहायक कंपनी है । लेपेटकटा, डिब्रूगढ़, असम स्थित बीसीपीएल संयंत्र इस क्षेत्र के सर्वांगीण सामाजिक-आर्थिक विकास के उद्देश्‍य से 15 अगस्‍त, 1985 को हस्‍ताक्षरित ऐतिहासिक असम समझौते का भाग है ।

बीसीपीएल संयंत्र 2 जनवरी, 2016 को सफतलापूर्वक कमीशन कर दिया गया है जिसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने दिनांक 5 फरवरी, 2016 को राष्‍ट्र को समर्पित किया है । संयत्र द्वारा उत्‍पादन किया जा रहा है ।

मुख्‍य रूप से बीसीपीएल के चार कार्य स्‍टेशनों हैं, अर्थात – गैस डिहाइड्रेशन यूनिट, दुलियाजान जहां मेसर्स ऑयल इंडिया लिमिटेड से फीड प्राकृतिक गैस प्राप्‍त की जाती है, रेलवे साइडिंग जहां मेसर्स एनआरएल से से प्राप्‍त नेप्‍था को अनलोड किया जाता है, लकवा जीएसयू-सह-सी2 हाइड्रोकार्बन रिकवरी यूनिट जहां मेसर्स ओएनजीसी द्वारा आपूर्ति की गई फीड प्राकृतिक गैस को प्रोसेस किया जाता है और लेपेटकटा, डिब्रूगढ़ स्थित मुख्‍य पेट्रोकेमिकल कॉम्‍पलेक्‍स जहां फीड स्‍टॉक की प्रोसेसिंग से पॉलीमर का उत्‍पादन किया जाता है ।

कॉमपलेक्‍स के मुख्‍य अंतिम उत्‍पाद हाई डेंस्‍टी पॉलीइथलीन (एचडीपीई) और लीनियर लो डेंस्‍टी पॉलीइथलीन (एलएलडीपीई) हैं जिनकी कुल मात्रा 2,20,000 टन प्रतिवर्ष (टीपीए) और 60,000 टीपीए पॉलीप्रोपलीन की है ।

बीसीपीएल संयंत्र से उत्‍पादित पॉलीमर उत्‍पादों की मार्केटिंग गेल (इंडिया) लिमिटेड द्वारा की जाती है ।

subsidiaries-2

गेल गैस लिमिटेड

गेल की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी, गेल गैस लिमिटेड का निगमन मई 2008 में कंपनी अधिनियम, 1956 के अन्‍तर्गत पूरे देश में शहर गैस वितरण परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु एक लिमिटेड कम्‍पनी के तौर पर किया गया था ।

गेल गैस लिमिटेड को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस विनियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) द्वारा देवास (मध्य प्रदेश), कोटा (राजस्थान), सोनीपत (हरियाणा), मेरठ और ताज़ ट्रेपेजियम ज़ोन (उत्तर प्रदेश) तथा बैंगलुरू ( कर्नाटक) में शहर गैस वितरण परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु प्राधिकृत किया गया है । इसके अतिरिक्‍त केरल, आंध्र पदेश, राजस्थान जैसे राज्‍यों एवं वाडोदरा और हरिद्वार आदि जैसे शहरों में गेल गैस अपने संयुक्त उद्यमों के माध्यम से शहर वितरण व्यवसाय को आगे बढ़ा रहा है । यह प्राकृतिक गैस वितरण के लिए पंजाब, उत्तराखंड आदि राज्यों में पाइपलाइन कॉरीडार के साथ-साथ पड़ने वाले विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों की भी पहचान कर रहा है।

संपीडित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) व्यवसाय: गेल गैस लिमिटेड ने सोनीपत, मेरठ, देवास, कोटा, ताज़ ट्रेपेजियम ज़ोन फिरोज़ाबाद, विजयपुर, पनवेल और दिबियापुर में 14 ऑनलाइन/मदर सीएनजी स्टेशनों और 2 डाटर बूस्टर स्टेशनों के माध्यम से कुल सीएनजी संपीडन क्षमता को 3.87 लाख किलोग्राम / प्रतिदिन से अधिक तक बढाया है । इसने राष्ट्रीय राजमार्गों के साथ-साथ सीएनजी इन्फ्रास्ट्रक्चर स्थापित करने के लिए हरित कॉरीडार परियोजना को भी हाथ में लिया है।

पाइप द्वारा प्राकृतिक गैस (पीएनजी) व्यवसाय: गेल गैस सोनीपत, मेरठ, देवास, कोटा, आगरा और फिरोज़ाबाद शहरों में 374.52 किलोमीटर से अधिक स्टील के पाइपलाइन और लगभग 624.37 किलोमीटर एमडीपीई पाइपलाइन नेटवर्क का प्रचालन करता है । गेल गैस द्वारा इन शहरों में 450 से अधिक औद्योगिक इकाईयों, 18 वाणिज्यिक ग्राहकों और 9213 घरेलू ग्राहकों को प्राकृतिक गैस की आपूर्ति का कार्य प्रगति पर है । इसने ताज़ ट्रेपेजियम ज़ोन (टीटीजे़ड) में समान मूल्य पद्धति (यूनीफार्म प्राइज़ मेकेनिज्म) और घरेलू और आयातित गैस मूल्यों की पूलिंग को कार्यान्वित किया है ।

अधिक पढ़ें

subsidiaries-3

गेल ग्‍लोबल (सिंगापुर) पीटीई लिमिटेड

गेल विदेश में निवेश का प्रबंधन करने के लिए एक पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, अर्थात्, गेल ग्लोबल (सिंगापुर) Pte लिमिटेड, है. गेल इस सहायक कंपनी के माध्यम से आगे व्यापार के अवसरों की तलाश में है.

अधिक पढ़ें

subsidiaries-4

गेल ग्‍लोबल (यूएसए) इंक. (जीजीयूआई)

गेल ग्लोबल (यूएसए) इंक (“जीजीयूआई”) का निगमन 26 सितंबर 2011 को स्टेट ऑफ टेक्सास, यूएसए में गेल (इंडिया) लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के रूप में किया गया था ताकि ईगल फोर्ड शेल गैस परिसम्पत्ति एवं इस परिसम्पत्ति से संबंधित प्रचालन एवं अन्य गतिविधियां में निवेश किया जा सके । कम्पनी का पंजीकृत कार्यालय हस्टन, टेक्सास, यूएसए में है ।

कम्पनी ने ईगल फोर्ड शेल परिसम्पत्ति, टेक्सास के अनिगमित संयुक्त उद्यम (जेवी) में प्रवेश करने के लिए मैसर्स कार्रिजो ऑयल एंड गैस इंक के साथ खरीद एवं सहभागिता करार निष्पादित किया है । कम्पनी ने संयुक्त उद्यम में 20% सहभागिता हित अर्जित किया है। कार्रिजो (ईगल-फोर्ड) एलएलसी ("कार्रिजो”) 80% सहभागिता हित के साथ संयुक्त उद्यम का ऑपरेटर है । संयुक्त उद्यम की पट्टेदारी दक्षिण टेक्सास स्थित ईगल फोर्ड शेल के कोर एरिया में वेट गैस/कंडेनसेट विंडो में स्थित है जहां महत्वपूर्ण लिक्विड कन्टेंट उपलब्ध हैं । ईगल फोर्ड, उत्तरी अमेरिका में उपलब्ध अत्यंत किफायती तौर पर आकर्षक गैर-परम्परागत संसाधन हैं । कंपनी ने शुरूआती दौर में ईगल फोर्ड में डिम्मिट, फ्रायो, लासाल्ले एवं मैकमुलैन काउंटिस के लगभग 4040 एकड़ क्षेत्र अर्जित किया है । तत्पश्चात् इसने मई, 2014 तक 1100 एकड़ अतिरिक्त क्षेत्र अर्जिति किया है । 31 दिसंबर 2013 तक कम्पनी के पास 61 ऑनलाइन कुएं थे जिनसे प्रतिदिन कुल 2400 बैरेल तेल का उत्पादन किया जाता है । अभी तक यह अनुमान लगाया गया है कि संयुक्त उद्यम वर्तमान एकरेज में 186 कुएं की ड्रिलिंग कर पायेंगे।

subsidiaries-5

गेल ग्लोबल यूएसए एलएनजी एलएलसी (“जीजीयूएलएल”)

मार्च 2013 में गेल ग्लोबल यूएसए, एलएनजी, एलएलसी (जीजीयूएलएल) का गठन एलएनजी लिक्विफिकेशन टर्मिनल में तथा संबंधित पाइपलाइनों में क्षमता अधिकार बुकिंग; टर्मिनल पर प्राकृतिक गैस की खरीद एवं डिलीवरी एवं अन्य किन्ही गतिविधियों जो एलएनजी की बिक्री हेतु आवश्यक हो, के लिए संविदा के आधार पर करार करेन हेतु स्टेट ऑफ डेलवेयर, यूएसए स्थित गेल ग्लोबल (यूएसए) इंक की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी कम्पनी के रूप में किया गया था ।

1 अप्रैल, 2013 को जीजीयूएलएल ने डोमिनियन कोव प्वाइंट एलएनजी,एलपी के साथ लस्बे, मेरीलैंड स्थित प्रस्तावित ब्राउनफिल्ड कोव प्वाईंट एलएनजी लिक्विफिकेशन टर्मिनल में 330,000 डी/दिन (2.3 एमटीपीए) की क्षमता और टर्मिनल तथा अन्य गैस संचरण पाइपलाइन को जोड़ने वाली पाइपलाइन की भी समान क्षमता की बुकिंग हेतु 20 वर्ष की अवधि के लिए टर्मिनल सेवा करार (“टीएसए”) एवं पाइपलाइन प्रिसिडेंट करार (पीपीए) का निष्पादन किया है । यह टर्मिनल मौजूदा एलएनजी री-गैसिफिकेशन सुविधा के साथ ब्राउनफिल्ड विस्तार परियोजना है । इस परियोजना को यूएसए के ऊर्जा विभाग (डीओई) से एलएनजी के एफटीए और नॉन-एफटीए देशों को निर्यात किए जाने का अनुमोदन प्राप्त हो गाया है । परियोजना के लिए ड्राफ्ट पर्यावरण मूल्यांकन (ईए) किया जा चुका है एवं परियोजना को एफईआरसी अनुमोदन, 2014 तक मिलने की संभावना है । परियोजना के प्रारंभ होने की तिथि सितंबर 2017 में अनुमानित है । संपर्क विवरण

संपर्क विवरण:
गेल ग्लोबल (यूएसए) इंक
333 क्ले स्ट्रीट, सूईट 3300
हस्टन, टेक्सास-77002

संयुक्‍त उद्यम / सम्‍बद्ध कंपनी

गेल ने शहर गैस वितरण और पेट्रोकेमिकल हेतु अनुषंगियों एवं संयुक्त उद्यमों की स्थापना की है । गेल घरों, व्यावसायिक उपभोक्ताओं और परिवहन क्षेत्र के लिए गैस की आपूर्ति के लिए अनुषंगियों/संयुक्त उद्यम कंपनियों की स्थापना कर भारत में अग्रणी है ।

jointVenture-1

अवंतिका गैस लिमिटेड (एजीएल)

एजीएल का निगमन मध्य प्रदेश में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक एजीएल 7 डाटर स्टेशनों, 5 ऑनलाइन स्टेशनों और 2 मदर स्टेशनों सहित कुल 14 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

एजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 1900 घरेलू, 19 व्यावसायिक और 31 औद्योगिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । एजीएल इस क्षेत्र में 11,500 से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इसमें गेल की हिस्सेदारी 22.5% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु. 01 करोड़ है और एचपीसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.115.26 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.0.49 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-2

भाग्यनगर गैस लिमिटेड (बीजीएल)

बीजीएल का निगमन आंध्र प्रदेश में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक बीजीएल 24 डाटर स्टेशनों, 2 ऑनलाइन स्टेशनों और 3 मदर स्टेशनों सहित कुल 29 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

बीजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 2100 घरेलू, 34 व्यावसायिक और 2 औद्योगिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । बीजीएल इस क्षेत्र में 20,650 से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इसमें गेल की हिस्सेदारी 22.5% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु.01 करोड़ है और एचपीसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.104.99 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.14.99 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

china-gas

चाइना गैस होल्डिंग लिमिटेड (चाइना गैस)

वर्ष 2005 में गेल ने चाइना गैस होल्डिंग्‍स लिमिटेड में रणनीतिक निवेश किया है । हांगकांग स्‍टॉक एक्‍सचेंज में सूचीबद्ध चाइना गैस एक खुदरा गैस कंपनी है जो चीन में शहर गैस, सीएनजी, एलएनजी और एलपीजी के व्‍यवसाय में संलग्‍न है । 30 सितंबर, 2018 की स्थिति के अनुसार चाइना गैस ने चीन के 26 प्रांतों में रियायती अधिकार के साथ कुल 508 पाइप्‍ड गैस परियोजनाएं, 14 लंबी दूरी की प्राकृतिक गैस परिसंचरण पाइपलाइन परियोजनाएं, वाहनों के लिए 580 सीएनजी/एलएनजी रिफिलिंग स्‍टेशन और 100 एलपीजी वितरण परियोजनाएं हासिल की हैं । चाइना गैस 27.10 मिलियन रिहायशी ग्राहकों और 195,000 व्‍यावसायिक और औद्योगिक ग्राहकों को पाइप्‍ड नेचुरल गैस की आपूर्ति करता है । कंपनी के बारे में और अधिक जानकारी के लिए www.chinagasholdings.com.hk देखें ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-3

सेंट्रल यूपी गैस लिमिटेड (सीयूजीएल)

सीयूजीएल का निगमन उत्तर प्रदेश में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक सीयूजीएल 1 डाटर बूस्टर स्टेशन, 11 ऑनलाइन स्टेशनों और 2 मदर स्टेशनों सहित कुल 14 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

सीयूजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 4200 घरेलू, 36 औद्योगिक और 77 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । सीयूजीएल इस क्षेत्र में 40,900 से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 25% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु.15 करोड़ है और बीपीसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.197.02 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.25.40 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

fayum-gas

फायम गैस कंपनी (फायम गैस)

वर्ष 2004 में गेल ने फायम गैस में रणनीतिक निवेश किया है । कंपनी मिस्र में फायम के गवर्नोरेट में शहर गैस वितरण में शामिल है । फायम गैस का प्रमुख शेयरधारक इजिप्शियन कुवैत होल्डिंग कंपनी है । वर्तमान में फायम गैस में गेल की 19% इक्विटी है ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-4

ग्रीन गैस लिमिटेड (जीजीएल)

जीजीएल का निगमन उत्तर प्रदेश में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक जीजीएल 5 डाटर स्टेशनों, 5 ऑनलाइन स्टेशनों और 4 मदर स्टेशनों सहित कुल 14 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

जीजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 3600 घरेलू, 3 औद्योगिक और 7 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । जीजीएल इस क्षेत्र में 28,600 से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 22.5% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु. .01 करोड़ है और आईओसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.162.01 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु. 22.64 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-5

इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आईजीएल)

आईजीएल का निगमन दिल्ली के एनसीटी और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीबार) के नजदीकी शहरों में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक सीयूजीएल 38 डाटर स्टेशनों, 212 ऑनलाइन स्टेशनों और 75 मदर स्टेशनों सहित कुल 325 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

आईजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 4.5 लाख घरेलू, 585 औद्योगिक और 1277 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । आईजीएल इस क्षेत्र में 7.2 लाख से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है जो कि राष्ट्रीय राजधानी के पूरे सार्वजनिक परिवहन और विश्व की सबसे बड़ी सीएनजी बस फ्लीट में शामिल हैं । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 22.5% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु.31.50 करोड़ है और बीपीसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु. 3,940.24 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.358.27 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-6

महानगर गैस लिमिटेड (एमजीएल)

एमजीएल का निगमन मुम्बई और नजदीकी शहरों में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक एमजीएल 20 डाटर स्टेशनों, 130 ऑनलाइन स्टेशनों और 19 मदर स्टेशनों सहित कुल 169 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

एमजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 7 लाख घरेलू, 53 औद्योगिक और 2289 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । एमजीएल इस क्षेत्र में 3.6 लाख से अधिक सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 49.75% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु. 44.45 करोड़ है और ब्रिटिश गैस बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु. 1,919.65 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु. 299.67 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-7

महाराष्ट्र प्राकृतिक गैस लिमिटेड (एमएनजीएल)

एमएनजीएल का निगमन पुणे और इसके आसपास में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक एमएनजीएल 15 डाटर स्टेशनों, 8 ऑनलाइन स्टेशनों और 5 मदर स्टेशनों सहित कुल 28 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

एमएनजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 12,300 घरेलू, 83 औद्योगिक और 31 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । एमएनजीएल इस क्षेत्र में लगभग 60,200 सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 22.5% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु.22.50 करोड़ है और बीपीसीएल बराबर का हिस्सेदार है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.344.08 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.56.66 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

national_gas

नेशनल गैस कंपनी (नाटगैस)

वर्ष 2004 में गेल ने अपनी पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली सहायक कंपनी गेल ग्‍लोबल (सिंगापुर) पीटीई लि. (जीजीएसपीएल) के माध्‍यम से नाटगैस ने रणनीतिक निवेश किया है । नाटगैस मिस्र में काइरो, अलेक्‍जेंड्रिया, गीजा आदि के गवर्नोरेट में शहर गैस वितरण में शामिल है । नाटगैस का प्रमुख शेयरधारक इजिप्शियन कुवैत होल्डिंग कंपनी है । वर्तमान में नाटगैस में जीजीएसपीएल की 5% इक्विटी है ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-8

ओएनजीसी पेट्रो एडिशन्स लिमिटेड (ओपाल)

ओएनजीसी, गेल एवं जीएसपीसी द्वारा प्रवृत्त संयुक्त उद्यम कंपनी ओपाल ने दहेज, गुजरात में 1.4 एमएमटीपीए पॉलीमर (पॉलीईथीलीन एवं पॉलीप्रॉपीलीन) को अंतिम उत्पाद के रूप में तैयार करने की क्षमता वाले ग्रीन फील्ड पेट्रोकेमिकल संयंत्र को कमिशन किया है । माननीय प्रधान मंत्री जी ने 7 मार्च 2017 में इस संयत्र को राष्ट्र को समर्पित किया था । आपकी कंपनी ने, ओपाल के सह-प्रोमोटर के रूप में, रु.994.945 करोड़ का इक्विटी निवेश किया है ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-9

पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड

पीएलएल की स्थापना एलएनजी आयात और रीगैसीफिकेशन सुविधाएं लगाने हेतु की गई थी जो मौजूदा समय में दाहेज, गुजरात में 15 एमएमटीपीए क्षमता के एलएनजी री-गैसीफिकेशन टर्मिनल का प्रचालन कर रहा है । पीएलएल ने रास गैस, कतर से एलएनजी की सप्लाई के लिए 8.5 एमएमटीपीए एलएनजी आयात हेतु दीर्घ कालिक करार किया है । पीएलएल दाहेज टर्मिनल की क्षमता बढ़ा कर 17.5 एमएमटीपीए कर रहा है । साथ ही, पीएलएल ने कोच्चि, केरल में 5 एमएमटीपीए क्षमता का एलएनजी री-गैसीफिकेशन टर्मिनल लगाया है, जो प्रचालन में है । पीएलएल ने अपने कोच्चि टर्मिनल के लिए एक्जान मोबिल के गोरगान प्रोजेक्ट के साथ 1.44 एमएमटीपीए एलएनजी की सप्लाई हेतु दीर्घकालिक एलएनजी सप्लाई कांट्रेक्ट किया है ।

पीएलएल में गेल की इक्विटी हिस्सेदारी 12.5% है जिसके अनुसार निवेश की राशि रु.98.75 करोड़ है । बीपीसीएल, ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) और इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) बराबर के हिस्सेदार हैं ।

वर्ष 2016-17 में कंपनी का कुल राजस्व रु.24,962 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.1,723 करोड़ है ।

अधिक पढ़ें

jointVenture-10

रत्नगिरि गैस एंड पॉवर प्राइवेट लिमिटेड (आरजीपीपीएल)

आरजीपीपीएल की स्थापना 2005 में एक संयुक्त उद्यम के रूप में पूर्ववर्ती दाभोल पॉवर प्रोजेक्ट की सम्पत्ति जिसमें 1967.08 मेगावाट गैस आधारित कम्बाइंड सायकल पॉवर ब्लाक तथा 5 एमएमटीपीए एलएनजी ब्लाक शामिल थे, को हाथ में लेकर उसे प्रचालित करने के लिए किया गया था । सम्पत्ति का हस्तांतरण आरजीपीपीएल को अक्तूबर, 2005 में किया गया । पॉवर ब्लाक को पुनर्जीवित कर दिया गया है और यह 19 मई, 2009 से कमर्शियल उत्पादन कर रहा है । वर्ष 2013-14 में पॉवर ब्लाक को घरेलू गैस की कमी के कारण 8.74% पॉवर लोड फैक्टर (पीएलएफ) और 12760 मिलियन यूनिट की क्षति पर चलाया गया ।

कंपनी के पाइपलाइन नेटवर्क को गैस की डिलीवरी जनवरी, 2013 में उच्च दाब डिलीवरी प्रणाली के द्वारा प्रारंभ की गई । तत्पश्चात, 22 मई, 2013 से व्यावसायिक प्रचालन के लिए आवश्यक प्रणालियों की कमीशनिंग की गई । चूंकि पॉवर प्रजनन पूर्णत: घरेलू गैस का प्रयोग कर किया जाना है, अत: एकीकृत एलएनजी टर्मिनल को टोलिंग प्रयोजन हेतु प्रयोग किया जाएगा । आरजीपीपीएल ने पहले ही गेल के साथ एलएनजी टर्मिनल के व्यावसायिक प्रयोग और टोलिंग प्रचालन शुरु किए जाने के लिए दीर्घकालिक करार किया है ।

31 मार्च, 2014 को कंपनी की प्रदत्त पूंजी रु.2,916 करोड़ थी जिसमें गेल का अंशदान रु. 974.31 करोड़ था ।

आरजीपीपीएल में गेल की इक्विटी हिस्सेदारी 32.86%, एनटीपीसी होल्डिंग की 32.86%, एमएसईनी होल्डिंग कंपनी लिमिटेड की 17.41% तथा भारतीय वित्तीय संस्थानों की 16.87% है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.2,216.34 करोड़ और अर्जित लाभ रु.112.05 करोड़ था । यद्यपि कंपनी इसके लाभार्थियों से उच्च प्राप्तियों के चलते वित्तीय संकट में है और इस कारण से वर्ष 2013-14 में उधार चुकता करने की अपनी बाध्यताओं को पूरा नहीं कर सकी है ।

अधिक पढ़ें

SEAGP

साउथ ईस्‍ट एशिया गैस पाइपलाइन कंपनी लिमिटेड (एसईएजीपी)

एसईएजीपी की स्‍थापना 792.5 कि.मी. लंबी पाइपलाइन के माध्‍यम से म्‍यांमार में ए1/ए3 ब्‍लॉक से म्‍यांमार-चाइना सीमा तक प्राकृतिक गैस के परिवहन हेतु हॉंग-कॉंग में की गई है । एसईएजीपी में गेल का 4.1735% स्‍टेक (लगभग 83.88 मिलियन डॉलर ) है । इस परियोजना के अन्‍य शेयरधारक हैं – सीएनपीसी-एसईएपी ( 50.9%), पोस्‍को-देवू (25.041%) , एमओजीई (7.365%), ओएनजीसी कैप्शियन ई एंड पी बी.वी. (8.347%), कोगैस (4.1735%) । इस पाइपलाइन को 01 दिसंबर, 2013 से वाणिज्यिक प्रचालन हेतु रखा गया है । वर्ष 2016-17 के दौरान इस पाइपलाइन से औसतन लगभग 14 एमएमएससीएमडी प्राकृतिक गैस का परिवहन किया गया है ।

jointVenture-11

त्रिपुरा नेचुरल गैस कंपनी लिमिटेड (टीएनजीसीएल)

टीएनजीएल का निगमन अगरतला में सीजीडी परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु किया गया था । 31 मार्च, 2014 तक टीएनजीएल 2 डाटर स्टेशनों और 2 मदर स्टेशनों सहित कुल 4 सीएनजी स्टेशनों का प्रचालन कर रहा था ।

टीएनजीएल अपने प्राधिकृत भौगोलिक क्षेत्र में लगभग 14,650 घरेलू, 45 औद्योगिक और 254 व्यावसायिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति करता है । टीएनजीएल इस क्षेत्र में लगभग 6150 सीएनजी वाहनों की ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है । इस संयुक्त उद्यम में गेल की हिस्सेदारी 29% है जिसके अनुसार निवेश की कुल राशि रु.1.92 करोड़ है ।

वर्ष 2013-14 में कंपनी का कुल राजस्व रु.36.74 करोड़ और कर पश्चात लाभ रु.6.48 करोड़ था ।

अधिक पढ़ें

TPCL

टीएपीआई पाइपलाइन कंपनी लिमिटेड (टीपीसीएल)

अफगानिस्‍तान तथा पाकिस्‍तान होते हुए तुर्क‍मेनिस्‍तान के गलकियानिश फिल्‍ड से 38 एमएमएससीएमडी प्राकृतिक गैस की आपूर्ति के लिए गेल तुर्कमेनिस्‍तान-अफगानिस्‍तान-पाकिस्‍तान-भारत (टीएपीआई) पाइपलाइन परियोजना का अनुसरण कर रहा है । अंतर सरकारी करार (आईजीए) तथा गैस पाइपलाइन फ्रेमवर्क करार (जीपीएफए) नामक दो सरकारी स्‍तर के करार पर चार सदस्‍य देशों के हस्‍ताक्षर हो चुके हैं । इसके अतिरिक्‍त, द्विपक्षीय गैस विक्रय तथा क्रय करार (जीएसपीएएस) पर भी विक्रेता (तुर्कमेनिस्‍तान) तथा तीन देशों (अफगान गैस इंटरप्राइज़, आईएसजीएस प्रा. लि. तथा गेल) के संबंधित गैस क्रेता कंपनियों के हस्‍ताक्षर हो चुके हैं । इसके साथ ही प्रचालन करार पर ही विक्रेता और तीनों क्रेताओं ने हस्‍ताक्षर कर चुके हैं ।

परियोजना की प्रगति हेतु, द पाइपलाइन कंशोर्सियम कंपनी, टीएपीआई पाइपलाइन कंपनी लिमिटेड (टीपीसीएल) का गठन नवंबर 2014 में किया गया था ताकि तुर्कमेनिस्‍तान- अफगानिस्‍तान सीमा से पाकिस्‍तान-भारत सीमा तक प्रस्‍तावित टीएपीआई पाइपलाइन का निर्माण, स्‍वामित्‍व, प्रचालन एवं अनुरक्षण किया जा सके । अगस्‍त 2015 में गलकियानिश पाइपलाइन कंपनी (जीपीसी) जो तुर्कमेनगैज़ का शत प्रतिशत अनुषंगी कंपनी है तथा जिसे परियोजना के संचालन समिति द्वारा कंशोर्सियम लीडर रूप में अनुमोदित किया गया है । टीपीसीएल के शेयरधारक करार तथा निवेश करार पर क्रमश: दिनांक14 दिसंबर, 2015 तथा दिनांक 07 अप्रैल, 2016 को शेयरधारकों के हस्‍ताक्षर हो चुके हैं । टीपीसीएल में गेल की इक्विटी धारिता 5% है । टीपीसीएल का परियोजना कार्यालय दुबई में स्‍थापित किया गया है।

परियोजना का एफआईडी पूर्व चरण प्रारंभ हो चुका है तथा टीपीसीएल ने मैसर्स आईएलएफ बर्टान्‍डे इंजेन्‍योर जीएमबीएच को पीएमसी तथा फीड परामर्शदायी सेवाओं के लिए नियुक्‍त किया है ।

Talcher

तलचर फर्टीलाइज़र्स लिमिटेड

गेल, सीआईएल, आरसीएफ और एफसीआईएल द्वारा प्रवर्तित संयुक्‍त उद्यम कंपनी (जेवीसी) तलचर फर्टीलाइज़र्स लिमिटेड का गठन जिला अंगुल, ओडीसा में एफसीआईएल के तलचर फर्टीलाइज़र यूनिट को पुनर्जीवित करने के लिए किया गया है । वर्तमान में इस संयुक्‍त उद्यम में गेल की 29.67% भागीदारी है । कंपनी की योजना कोयले को फीडस्‍टॉक के रूप में प्रयोग कर 1.26 एमएमटीपीए यूरिया उत्‍पादन करने की है । संयंत्र लगभग 8,000 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से यूरिया के उत्‍पादन हेतु कोल गैसीफिकेशन प्रौद्योगिकी का प्रयोग करेगा । सैद्धांतिक अनुमोदन में प्रारंभिक वर्षों के लिए ब्रिज लिंकेज कोयले के साथ नार्थ अर्खापल कोल माइन (50%) का तलचर फर्टीलाइज़र्स लिमिटेड (टीएफएल) को आबंटन प्राप्‍त हुआ है । मेसर्स पीडीआईएल इस परियोजना के लिए टीएफएल को सहयोग प्रदान कर रहा है । परियोजना को 2021 तक पूरा किए जाने का लक्ष्‍य है ।

VGL-Logo

वडोदरा गैस लिमिटेड (वीजीएल)

वडोदरा गैस लिमिटेड (वीजीएल), गेल गैस लिमिटेड तथा वडोदरा महानगर सेवा सदन (वीएमएसएस) का एक संयुक्‍त उद्यम कंपनी (जेवीसी) है । इसका गठन वडोदरा शहर तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में शहर गैस वितरण के लिए 13 सितंबर, 2013 को किया गया है । नई संयुक्‍त उद्यम कंपनी वीजीएल की अधिकृत शेयर पूंजी 215 करोड़ रुपए है । इस जेवी कंपनी के सह-प्रवर्तकों की इस कंपनी में समान हिस्‍सेदारी है ।

वर्तमान में, वडोदरा गैस लिमिटेड वडोदरा में नौ सीएनजी स्‍टेशनों का प्रचालन करता है और 65000 कि.ग्रा./दिन से अधिक सीजएनजी का संवितरण करते हुए मोटर वाहन क्षेत्र के उपभोक्‍ताओं की आवश्‍यकता को पूरा करता है जिनमें बस, कार तथा तथा ऑटो-रिक्‍शा शामिल हैं । वडोदरा शहर के सीएनजी नेटवर्क में 2- मदर स्‍टेशन, 1- ऑन-लाइन स्‍टेशन तथा 6-डॉटर बूस्‍टर स्‍टेशन एवं 13 कि.मी. लंबी स्‍टील पाइपलाइनें हैं । ये स्‍टेशन मूल रूप से गेल (इंडिया) लिमिटेड अथवा इसकी पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली सहायक कंपनी गेल गैस लिमिटेड द्वारा निर्मित, स्‍वामित्‍व एवं प्रचालित किए जाते थे । वीजीएल ने अपने सीएनजी स्‍टेशन नेटवर्क बढ़ाने की योजना बनाई है ताकि इस शहर के सभी भागों और इसके आस पास के क्षेत्रों में सीएनजी संवितरण को बढ़ाया जा सके । वीजीएल ने आगामी पांच वर्षों में 03 मदर स्‍टेशन, 6-ऑन-लाइन स्‍टेशन और लगभग 50.0 कि.मी. लंबा एक स्‍टील पाइपलाइन नेटवर्क बिछाने की योजना बनाई है जिससे कि मोटर-वाहन क्षेत्र के उपभोक्‍ताओं की बढ़ती हुई आवश्‍यकता को पूरा किया जा सके ।

Read More

पिछला अपडेट: मार्च 20 2019

इसके अलावा इस अनुभाग में